Go to the top

Agriculture

Friday / Nov 16, 2018 /

गाय भैंस का चारा कैसे उगाये

UK Atheya / Agriculture, Cattle, Cattle Fodder /

मक्का का चारा कैसे उगाये यह काली मिटी या लाल मिट्टी में आसानी से उगया जा सकता है इसके लिए 1 हेक्टर जमीन में 30 किलो मक्का तथा 20 किलो लोबिया की आवश्कता होती है। इसमे एक लाईन मक्का की बोये ओर एक लाईन लोबिया की बोये। इसमें उवर्रात की मात्रा प्रति हेक्टर 35 किलो0…

read more
Tuesday / Mar 20, 2018 /

अजोला

UK Atheya / Agriculture /

सूखे में या बिना पानी के इस पौधे की मृत्यु हो जाती है। इसलिए पौधे को अजोला कहा जाता है। इसको माॅस्किटों फर्न, डक वीड फर्न, फेरी फर्न, फेरी मांस या वाटर फर्न कहते है। इस फर्न पत्ति के नीचे एनीवीना एजोली नाम का जीवाणु लगा रहता है जो कि वायुमण्डल से नाइट्रोजन लेकर यूरिया…

read more
Sunday / Mar 18, 2018 /

Azolla

UK Atheya / Agriculture /

This is a water fern. This grows at 50 to 80% humidity when temperature is 200 to 300C. This can be use in goat, poultry, pig, rabbits, cows and buffalo. For cow and buffalo when it is mixed with bhusa morning and evening then milk production increases by 8 to 10%. For this, ten inches…

read more
Wednesday / Mar 07, 2018 /

Moringa (Sahajan)

UK Atheya / Agriculture /

Moringa in hindi called called Sahjan is a fodder tree. Fodder from, this plant increase milk production and growth of dairy cattle. It can provide 100 metric tonne of fodder per hectare.

read more
Wednesday / Mar 07, 2018 /

Hydroponic

UK Atheya / Agriculture /

0 Milk is basic necessary of human being. However, in absence of agricultural land in big cities it has not been possible to keep dairy cow, goats and buffalo where is the cost of milk is double in villages. 

read more
केंचुएं से बना खाद
Wednesday / Oct 25, 2017 /

संधारणीय (Sustainable) कृषि में केंचुओं का योगदान

UK Atheya / Agriculture, Soil Management /

यद्यपि केंचुआ लंबे समय से किसान का अभिन्न मित्रा हलवाहा (Ploughman)  के रूप में जाना जाता रहा है। सामान्यतः केंचुए की महत्ता भूमि को खाकर उलट-पुलट कर देने के रूप में जानी जाती है जिससे कृषि भूमि की उर्वरता बनी रहती है।

read more
Wednesday / Oct 25, 2017 /

वर्मिंग कम्पोज (केंचुओं की खाद)

UK Atheya / Agriculture, Soil Management /

हम सभी अच्छी तरह जानते हैं कि भूमि में पाये जाने वाले केंचुए मनुष्य के लिए बहुपयोगी होते हैं। मनुष्य के लिए इनका महत्व सर्वप्रथम सन् 1881 में विश्व विख्यात जीव वैज्ञानिक चाल्र्स डार्विन ने अपने 40 वर्षों के अध्ययन के बाद बताया। इसके बाद हुए अध्ययनों से केंचुओं की उपयोगिता उससे भी अधिक साबित…

read more
Tuesday / Oct 17, 2017 /

चारे का साईलेज (अचार) बनाना (Stored Fodder- Silage)

UK Atheya / Agriculture, Nutrition /

बरसात में जब अधिकाधिक मक्का की खेती होती है। जब मक्का को काटकर आॅक्सीजन रहित स्थान पर 45 दिन तक रखने से मक्का साईलेज बनता है। इसे गाय भैंस को खिलाकर अधिक दूध उत्पादन कर सकते है।

read more
Monday / Oct 16, 2017 /

मोरंगा या सहेजन की खेती

UK Atheya / Agriculture, Moringa /

मोरंगा या सहेजन की पत्ती कम वर्षा वाले क्षेत्रों में पशुओं के लिए साल भर चारा प्राप्त कराती है। यह 100 मिट्रिक टन चारा प्रति हेक्टेअर एक बार फसल लगानें से 3 वर्ष तक फसल देती है।

read more
Monday / Oct 16, 2017 /

हाइड्रोपोनिक द्वारा चारा उगाना

UK Atheya / Agriculture /

पशुओं के लिए चारा उगाना घास का चारा घास के बीजों से डेयरी पशुओं तथा मुर्गी, सूअर और बकरी के लिए उगाया जा सकता है। यदि हम वातावरण में कार्बन डाॅइ आॅक्साइड की मात्रा को बढ़ा दें तो 8 दिन से पहले भी चारा उगाया जा सकता है।

read more