Go to the top

अजोला

UK Atheya / Agriculture /

  • सूखे में या बिना पानी के इस पौधे की मृत्यु हो जाती है। इसलिए पौधे को अजोला कहा जाता है। इसको माॅस्किटों फर्न, डक वीड फर्न, फेरी फर्न, फेरी मांस या वाटर फर्न कहते है। इस फर्न पत्ति के नीचे एनीवीना एजोली नाम का जीवाणु लगा रहता है जो कि वायुमण्डल से नाइट्रोजन लेकर यूरिया बनाता है। यह फर्न एक सप्ताह से कम समय में ही अपने को दोगुना कर लेता है और इसकी 1 किग्रा मात्रा पशु को खिलाने से दुग्ध उत्पादन में 10 प्रतिशत की बढोत्री हो जाती है। इसको उगाने के लिए 4 आवश्यकताऐं होती है।
  • यह छाया में होता है।
  • इसमें 5 से 6 ईंच पानी की सतह का होना अनिवार्य है।
  • पानी का pH 5.5 से 7 होना आवश्यक होता है।
  • वायु मण्डल में आर्द्रता 50 से 80 प्रतिशत होना आवश्यक है।
  • 200 से 300 तापक्रम पर यह अच्छी प्रकार से उगता है और इसका रंग हरा रहता है।
  • अधिक ठण्डे और गर्म मौसम इसका रंग लाल हो जाता है। यह डी-आॅक्सीयैना (deoxy anthocyanins) यह पशुओ के लिए हानिकारक होता है।
  • प्रतिवर्ग मीटर में 250 से 300 ग्राम होती है। अर्थात 1 किग्रा अजोला के लिए 3 से 4 वर्ग मीटर की आवश्यकता होती है। तथा पशु को 1 किग्रा सुबह और 1 किग्रा सायं को खिलाने पर दुग्ध उत्पादन में 10 प्रतिशत की वृद्धि हो जाती है।
  • इसमें प्रति सप्ताह 10 ग्राम उर्वरक प्रति वर्ग मीटर में दर प्रति सप्ताह देना पडता है। उर्वरक के मिश्रण की मात्रा इस प्रकार से हैः
  • अ. सिंगल सुपर फास्पफेट 5 किग्रा।
  • ब. मैग्निश्यिम सल्फेट 750 ग्राम।
  • स. यूरेट आॅपफ पोटास 250 ग्राम।
  • इसके लिए 2.5 मीटर लम्बी और 1.5 मीटर चैडी 10 ईंच गहरी पक्की क्यारी बनाई जाती है। इसमें 3 ईंच मिट्टी और 5 से 6 ईंच पानी भर दिया जाता है।
  • इसमें उर्वरक तथा अजोला डालने से 3 सप्ताह में अजोला प्राप्त होने लगता हैै। यह बहुत तेजी से बढता है। यह 3 से 4 दिन में दोगुना होता है।
  • हवा के झोंके से या अधिक वर्षा से बह जाता है। इसलिए इसे ग्रीन हाऊस में उत्पन्न करना चाहिए।

अजोला उगाने के अन्य लाभ

  • धान की खेती यह उर्वरक का कार्य करता है।
  • कुकुट पालन में यह उसके आहार का कार्य करता है।
  • जल में मच्छरो की वृद्धि को रोकता है।
  • यह ग्लोबल वार्मिंग को कम करता है।
  • यह धान की फसल में खर-पतवार को नहीं उगने देता है।
  • कारखानों से निकलने वाले हानीकारक तत्वों को नियन्त्रित करता है।

Leave a Comment